देहरादून के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल

हेल्लो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं देहरादून के प्रसिद्ध टूरिज्म प्लेस की प्रकृति की गोद में बसा यह शहर सौंदर्य ता लिए उत्तराखंड में स्थित है जिन लोगों को घूमने का शौक है एवं प्रकृति प्रेमी है उनके लिए देहरादून का ट्रेवल करना बेस्ट विकल्प हो सकता है यहां प्राकृतिक की सुंदरता के साथ साथ उत्तराखंड के इतिहास से जुड़े कई तथ्य देखने को मिलते हैं तो चलिए अब बात कर लेते हैं देहरादून के प्रसिद्ध टूरिज्म प्लेस की जहां हम घूमने जा सकते हैं, 

                    देहरादून

देहरादून मुख्य रूप से भारत के  उत्तराखंड  राज्य की राजधानी के लिए जाना जाता है राजधानी होने के साथ साथ यह राज्य  का शहरी क्षेत्र में गिना जाता है जिसकी स्थापना सन् 1699 ईसवी में हुई थी समुंदर तल से लगभग 447 मीटर की ऊंचाई पर स्थित देहरादून केवल राज्य की राजधानी के लिए ही प्रसिद्ध नहीं है अपितु उत्तराखंड का दिल कहलाने वाला देहरादून प्राकृतिक  शोंदर्यता लिए सदियों से लाखों करोड़ों लोगों के दिल में राज करता आ रहा है प्राकृतिक सौंदर्य होने के साथ साथ यह  राज्य के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों के लिए भी जाना जाता है  शहर में मुख्य रूप से हिन्दी और गड़वाली भाषा के अतिरिक्त अंग्रेजी भाषा का भी प्रचुर मात्रा में प्रयोग किया जाता है  यहां की जलवायु सामान्य बनी रहती हैं गर्मियों में तापमान 36 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है जबकि सर्दियों में देहरादून का तापमान 2 डिग्री से ले कर के 24 डिग्री सेल्सियस के मध्य बना रहता है 







देहरादून के बेस्ट टूरिज्म प्लेस

टपकेश्वर मंदिर- देहरादून में स्थित टपकेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है यहां तक पहुंचने के लिए आपको देहरादून से लगभग 5 या 6 किलोमीटर की यात्रा करनी पड़ेगी आप चाहे तो किसी भी साधन से यहां तक पहुंच सकते हैं दरअसल यह मंदिर गुफा के अंदर स्थित है जिसमें गुफा की छत से पानी टपकता रहता है जो कि सीधे शिवलिंग के ऊपर गिरता है शिवरात्रि के महोत्सव पर लोग काफी मात्रा में पधारकर मंदिर की सौंदर्यता बढ़ाते हैं

ज्वाला मंदिर- यह मंदिर मसूरी और देहरादून के बीच स्थित है आप लोग किसी भी साधन का प्रयोग करके यहां तक पहुंच सकते हैं यह मंदिर मां दुर्गा को समर्पित हैं यदि आप मां दुर्गा के भक्त हैं तो आपको इस मंदिर के दर्शन जरूर करना चाहिए यह दोनों तरफ से यमुना घाटी तथा दून घाटी से गिरा हुआ है



मालसी डियर पार्क - यह पार्क देहरादून से मसूरी जाते समय देहरादून से कुछ ही दूरी पर स्थित है इस पार्क को मिनी जू के नाम से भी जाना जाता है यह पा काफी बड़ा है जिसमें कई प्रकार के जानवर दिखाई देते हैं यह जगह पिकनिक मनाने वालों के लिए काफी अच्छी जगह है खुला स्पेस और प्राकृतिक सुंदरता इसे और अधिक मनोबल बनाती है

माल देवता- देहरादून का प्रसिद्ध टूरिस्ट प्लेस मालदेवता को कहा जाता है वह इसलिए कि जब भी कोई व्यक्ति देहरादून घूमने की प्लानिंग करता है तो सबसे पहले उसकी जुबान पर मालदेवता का नाम आता है दरअसल यह मंदिर चारों तरफ से पहाड़ों से ढके होने के कारण यहां आए श्रद्धालुओं को और अधिक मनोबल करती है और इन पहाड़ों से बरसात के मौसम में छोटे-छोटे झरने निकलते हैं जो इस दृश्य को और अधिक सुंदर बनाते हैं,




बुद्धा टेंपल - बुद्धा टेंपल बस अड्डे से कुछ ही किलोमीटर दूर स्थित है प्राकृतिक सौंदर्यता लिए यह टेंपल भगवान बुद्धा को समर्पित हैं इसकी बनावट व आसपास की प्राकृतिक सुंदरता इतनी खास हैं की  जब यहां कोई आता है तो उसका यहां से जाने का मन नहीं करता है इस टेंपल के इतिहास की बात करें तो इसे तिब्बती समुदाय द्वारा सन 1965 के लगभग बनाया गया था


लछीवाला- जो लोग प्रकृति प्रेमी हैं उनके लिए देहरादून का लच्छीवाला काफी अच्छा विकल्प है इसकी दूरी देहरादून से बेहद करीब हैं आप किसी भी साधन के प्रयोग से यहां तक आ सकते हैं इसके प्राकृतिक सौंदर्य था इसे और अधिक सुंदर बनाती हैं




केसे पहुंचे देहरादून

यदि देहरदून पहुंचने की बात करें तो यह आप रोडवेज, रेलमार्ग और एयरवेज के जरिए भी आप यह आसानी से पहुंच सकते है 

रोडवेज- यदि आप बाय रोड के जरिए यह आना चाहते है तो आपको रोड को पूरी कनेक्टविटी आप को यह मिल जाएगी देश के प्रसिद्ध शहरों दिल्ली से यह 256 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है साथ हैदराबाद से यह 1789 किलोमीटर तथा उत्तराखंड के रामनगर से यह जगह 220 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है  

रेल मार्ग - रेल मार्ग की बात करें तो देहरदून का सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन देहरादून ही है टनकपुर से देहरदून 341 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तथा साथ ही काठगोदाम से यह जगह 278 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तो आप रेल मार्ग के जरिए भी देहरदून की यात्रा कर सकते हैं



एयर वेज - एयर वेज की बात करें तो देहरादून और पंतनगर देहरदून का सबसे नजदीक एयरपोर्ट है 

टिप्पणी पोस्ट करें