हार्ट अटैक , लक्षण बचाव ओर उपाय || Hard Attack Causes & Precautions

दोस्तों आज की पोस्ट में हम बात करने वाले हैं हार्ट अटैक की दोस्तों दिल का दौरा एक ऐसी बीमारी है जिसकी घटित होने की कभी आशंका नहीं लगाया जा सकता लेकिन कुछ चीजें कुछ लक्षण ऐसे हैं जो कि दिल के दौरा पड़ने के कुछ दिन पहले दिखाई देने लगते हैं जिससे इसका अंदाजा लगाया जा सकता है लेकिन कभी-कभी तो यह घटना बिना अंदाजा लगाएं यानी कि किसी भी समय हो सकती है और उन लोगों को होती है जो अनिंद्र आया डिप्रेशन में पड़ जाते हैं एक शोध से पता चला है कि अनिद्रार डिप्रेशन का सीधा संबंध अचानक होने वाले दिल के दौरे से होता है तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसे लक्षण जो कि दिल के दौरे से कुछ दिन पहले दिखाई देते हैं 
Ye lakshan batate hai hai ki aapko heart attack aane wala hai, heart attack se kuch din pehle dikne wale lakshan, reason for heart attack in hindi,


दिल का दौरा पड़ने के लक्षण symptoms of heart attack 

सांस लेने में दिक्कत- कभी-कभी दिल के मरीजों को सांस लेने में कठिनाई होने लगती है जिसे सीने में सांस लेते समय दर्द सा महसूस होता है जिससे दिल के दौरे पढ़ने की ज्यादा संभावना रहती है यह समस्या ज्यादा महिलाओं को महसूस होती है

सूजन महसूस होना- हमारे शरीर के सभी अंगों तक रक्त पहुंचाने का कार्य  दिल का होता है यह नियमित रूप से कार्य करता रहता है लेकिन हार्ट की बीमारी में  जब दिल को खून का प्रवह सही तरीके से नहीं हो पाता है तो हमारी शिराएं फूल जाती है उनमें सूजन होना महसूस होता है जिसे दिल के दौरे पड़ने का संकेत समझा जा सकता है


सीने में दर्द- सीने में दर्द भी दिल के दौरा पड़ने के खतरे को बढ़ा सकता है अक्सर दिल के मरीजों को थकान के साथ-साथ सांस लेते समय सीने में दर्द भी महसूस होता है तथा इस दौरान शरीर के अन्य भागों में भी दर्द को महसूस किया जा सकता है और यह दर्द लंबे समय तक नहीं बना रहता है

पसीना ज्यादा आना- सर्दियों एवं गर्मियों में वोक करते समय पसीना आना तो आम सी बात है लेकिन जब बिना किसी काम के है बैठे-बैठे पसीना  हो जाए तो यह आपकी हैल्थ  पर प्रश्न खड़ा कर सकता है आमतौर पर यह लक्षण दिल के दौरे में दिखाई देते हैं क्योंकि बिना कार्य के पसीने आना आम बात नहीं होती
 
चक्कर आना-  बार - बार चक्कर आना भी कभी - कभी  दिल के दौरे को निमंत्रण हो सकता है चक्कर उसी समय  ज्यादा आते हैं जब शरीर के अंगों में आवश्यकता अनुसार खून नहीं पहुंच पाता है


इसलिए अगर आपको बार-बार चक्कर आते हैं तो थोड़ा सतर्क होने का समय आ चुका है कि आप डॉक्टर से जांच करवा ले

हार्ट  अटैक से बचाव कैसे किया जाए (Precautions of Heart Attack in Hindi)



आज के युग में दिल का दौरा एक तेजी से फैल रही बीमारी हो है लेकिन में आपको एक बात और बताना चाहता हूं कि  सभी बीमारियों की भांति भी दिल का दौरा से भी  बचाव किया जा सकता है  
यदि कोई भी व्यक्ति  दिल के रोगों से परेशान है तो अगर वह नीचे बताए गए उपाय को ढंग से फॉलो करेगा तो वह निश्चित ही अन्य बीमारियों कि भाती दिल के दौरे  जैसे बीमारी से भी लड़ सकता है 

डायबिटीज का रखे ख्याल -  आम तौर पर देखा गया है कि दिल की बीमारियों से पीड़ित लोगों को डायबिटीज की बीमारी भी होती है इसलिए हार्ड अटैक से बचने के लिए डायबिटीज की बीमारी का जड़ से इलाज कराना जरूर होता है

आहार में  पौष्टिक भोजन करें -  यदि आप दिल दौरा जैसे समस्या से छुटकारा पाना चाहते है तो आपको अपने भोजन के  व्यंजनों में  पौष्टिक आहार को जरूर समलित करें पौष्टिक आहार का सेवन करने से शरीर स्वस्थ रहता हैं 

धूम्रपान न करें - यदि आप दिल के रोगी है और आप दिल की बीमारियों से लड़ रहे है तो आपको धूम्रपान का सेवन करना भूल ही जाना चाहिए क्योंकि हार्ड अटैक का मुख्या कारण है धूम्रपान करना इसलिए धूम्रपान आज ही छोड़ दीजिए

वजन को नियंत्रित रखें -  आम यह बात भी देगी गई है कि जिन लोगो का वजन बहुत ज्यादा होता है वह विभिन्न प्रकार के बीमारियों से घिर रहे होते है यदि आपका वजन भी ज्यादा है तो आपको इसे कम करने की जरूरत है 

नियमित जांच करें स्वास्थ्य की  -  यदि  लगातार स्वास्थ्य की जांच की जाए  तो जो बीमारियां शुरू होने वाली होती है उनके बारे में पहले ही पता लगा कर तुरंत उपचार की तैयारी की जा सकती है


दिल का दौरा पड़ने के कारण (Causes of Heart Attack in Hindi)

वैसे तो हार्ड अटैक होने के बहुत सारे कारण हो सकते है लेकिन अगर गलत खान पान के कारण यदि जीवन अस्त व्यस्त सा हो जाता है तो इस स्थिति में हार्ड अटैक होने का चांस होता है

मुख्य रूप से हार्ड अटैक होने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं

कॉलेस्ट्राल का  होना -  यदि  आपके शरीर में कॉलेस्ट्राल की मात्रा ज्यादा है तो कहीं आप हार्ड अटैक की चपेट में ना जाए इसलिए कॉलेस्ट्राल को कंट्रोल करने की कोशिश करें

धूम्रपान करना-  यदि आप रोज और ज्यादा मात्रा में धूम्रपान करते है तो आप एक तरफ से  हार्ड अटैक को निमंत्रण दे रहे है  हार्ड अटैक का मुख्या कारण है धूम्रपान करना इसलिए यदि आप इस समस्या से  बचना चाहते है तो धूम्रपान को जल्द से जल्द छोड़ने का प्रयत्न करें

रक्तचाप का उच्च  होना-  जिन लोगों को बीपी की प्रॉब्लम होती है उन्हें  अपने बीपी पे जरू ध्यान देना चाहिए क्योंकि अधिक बीपी की प्रॉब्लम आगे चल कर के हार्ड अटैक का कारण भी बन सकता है

तनाव मुक्त रहे  - हार्ड अटैक के प्रमुख कारणों में तनाव और डिप्रेशन भी है जो लोग तनाव में रहते हैं उन्हें अचानक होने वाले हार्ड अटैक का खतरा ज्यादा रहता है  इसलिए कोशिश करें की ज्यादा तनाव ना रखे और डिप्रेशन से बचे


Previous
Next Post »