गणतंत्र दिवस पर निबंध - Essay on Republic Day

  गणतंत्र दिवस पर निबंध - Essay on Republic Day

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग के आज के नए पोस्ट मैं जिस में हम आपको गणतंत्र दिवस के बारे में जानकारी देने वाले हैं इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िएगा क्योंकि इसी आर्टिकल में हम गणतंत्र दिवस पर निबंध गणतंत्र दिवस पर 10 लाइन हिंदी में के बारे में बात करने वाले हैं तो प्लीज इस आर्टिकल को 
अंत तक पढ़िएगा 


गणतंत्र दिवस पर निबंध (Essay on Republic Day) - प्रस्तावना

गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व है इस दिन देश का संविधान लागू हुआ था और भारत देश पूरे तरीके से एक लोकतांत्रिक देश बन गया, गणतंत्र दिवस को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया है लेकिन इस दिन भारतीय स्कूलों और सरकारी कार्यालयों में भव्य कार्यक्रम के साथ-साथ राष्ट्रीय ध्वज भी लहराया जाता है 26 जनवरी का दिन भारत के लिए गर्व का दिन होता है क्योंकि इस दिन भारत देश राजतंत्र शासन को खत्म करके लोकतंत्र की ओर बढ़ता है इस दिन सभी स्कूलों में राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है तथा साथ में इस दिन देश प्रेम की भावना के साथ भव्य कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है वहीं दूसरी तरफ इंडिया गेट से अनोखी छवियां देखने को मिलती हैं हर साल 26 जनवरी के दिन भारत गणतंत्र दिवस मनाता है और बड़े ही हर्षोल्लास के साथ इस राष्ट्रीय पर्व को मनाया जाता है सभी स्कूलों में इस दिन परेड होती है देश भक्ति के गानों के साथ नारे भी लगाए जाते हैं इस दिन सभी लोगों के दिल और मन में राष्ट्रीय देश भक्ति की भावना आती है और हर छोटा बच्चा भी अपने आप को देश को समर्पित करने की चाह रखता है क्योंकि इस दिन चारों तरफ चारों दिशाओं में देशभक्ति के नारे और एक पॉजिटिव एनर्जी आती है कि हम सब भारतवासी एक हैं 

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है (Why is republic day celebrated)

भारत देश में हर साल 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस मनाया जाता है यह भारत का राष्ट्रीय पर्व है सभी लोग एकजुट होकर मनाते हैं सन 26 जनवरी 1950 को भारत में राजतंत्र शासन को समाप्त करके लोकतंत्र की ओर कदम रखा, जिसके लिए संविधान का निर्माण किया गया क्योंकि संविधान के निर्माण के अनुसार ही देश को एक नई गति देने थे भारतीय संविधान को बनने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा और प्रारूप समिति के अध्यक्ष यानी कि संविधान निर्माण के अंतिम समिति डॉक्टर भीमराव अंबेडकर थे और डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने ही भारतीय संविधान को अंतिम रूप दिया इसलिए डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को संविधान का निर्माता कहा जाता है 26 जनवरी 1950 के दिन देश का संविधान लागू हुआ और तब से लेकर हर वर्ष 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस मनाया जाता है यह दिन सभी भारतीयों के लिए बड़ा ही खास दिन है भारतीय संविधान में देश के हर नागरिक के लिए अधिकार बनाए गए हैं भारतीय संविधान में वर्तमान समय में 470 अनुच्छेद के साथ-साथ 12 अनुसूचियां और यह 25 भागों में विभाजित है

,गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना उपसंहार ,गणतंत्र दिवस पर निबंध मैथिली में ,गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में 10 लाइन ,गणतंत्र दिवस पर निबंध इंग्लिश में ,गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में 150 शब्द ,गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में 100 शब्द ,गणतंत्र दिवस पर भाषण ,गणतंत्र दिवस का महत्व ,गणतंत्र दिवस पर निबंध 250 शब्द ,गणतंत्र दिवस पर निबंध संस्कृत में ,गणतंत्र दिवस 2020 ,गणतंत्र दिवस पर कविता

गणतंत्र दिवस का इतिहास (History of republic day)

सन 1947 में भारत देश को आजादी मिली और आजादी मिलने के बाद देश के सामने यही बड़ी समस्या थी कि भारत देश को चलाने के लिए राजतंत्र की नहीं बल्कि लोकतंत्र की जरूरत है जिसके लिए संविधान सभा के सदस्य चुने गए जो कि भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्यों द्वारा चुने गए संविधान के निर्माण के लिए 22 समितियां थी जिसमें प्रारूप समिति सबसे प्रमुख समिति थी संविधान सभा ने कुल 114 दिन की बैठक की जिसमें प्रेस और जनता को भी भाग लेने की अनुमति थी सन 1950 को जनवरी 24 के दिन संविधान सभा के 368 सदस्यों ने संविधान की दो हस्तलिखित कॉपियों पर हस्ताक्षर किए और 26 जनवरी 1950 को यह संविधान देशभर में लागू हो गया तब से लेकर हर वर्ष संविधान की वर्षगांठ के तौर पर गणतंत्र दिवस मनाया जाता है

भव्य समारोह (Grand ceremony)

26 जनवरी राष्ट्रीय पर्व होने के कारण इस दिन देश के हर कोने में राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले ही पूरे देश तैयारियों में जुट जाता है इस दिन हर जगह बंद कार्यक्रमों का आयोजन देखने को मिलता है

स्कूलों में समारोह (Celebrations in schools )

गणतंत्र दिवस के अवसर पर सभी बच्चे ड्रेस कोड के साथ स्कूल में आते हैं 26 जनवरी के दिन स्कूलों में भव्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसमें विद्यार्थी से लेकर अध्यापक तक अपना सहयोग प्रदान करते हैं इस दिन सबसे पहले राष्ट्रगान के साथ राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है पूरे स्कूल में राष्ट्रगान की गूंज उठती ध्वनि बड़ी ही मधुर और देश प्रेम की भावना जागृत करती हैं इसके बाद कई प्रकार के देश भक्ति के नारे लगाए जाते हैं और सभी लोग बड़े ही शोर-शराबे के साथ नारो का गायन करते हैं इसके अलावा स्कूलों में बच्चों के साथ परेड भी की जाती है जो कि एक स्थान से शुरू होकर एक 1 किलोमीटर के दायरे में चलता है जिसमें सभी बच्चों के हाथ में राष्ट्रीय ध्वज होता है तथा देशभक्ति के नारे के साथ परेड को पूरा किया जाता है इसके बाद स्कूलों में सांस्कृतिक संगीत के साथ साथ नृत्य भी किया जाता है जिसमें विद्यार्थी बढ़-चढ़कर भाग लेते हैं इसके अलावा कई प्रकार के नाटक भाषण देश भक्ति से संबंधित किए जाते हैं और अंत में सभी बच्चों को मिठाई भी दी जाती है

कार्यालयों में समारोह (Function in offices)

स्कूलों के अलावा कई कार्यालयों मैं भी 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का भव्य समारोह का आयोजन किया जाता है देश की राजधानी दिल्ली में इंडिया गेट पर गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन किया जाता है जिनमें सभी आसपास शहर के लोग एकजुट होते हैं इस दिन राष्ट्रीय पति द्वारा राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है तथा भारतीय सेनाओं के साथ 21 तोपों की सलामी उन्हें दी जाती है इस दिन यहां पर परेड भी होती है जो कि बड़ा ही आकर्षक और देश प्रेम की भावना जागृत करती है साथ में इस दिन यहां पर सभी राज्यों की झांकियां प्रस्तुत की जाती है जिसमें राज्य की संस्कृति और परंपरा को दिखाने का प्रयास किया जाता है साथ ही भारतीय सेनाओं द्वारा अपना प्रदर्शन दिखाया जाता है इसी दिन देश के राष्ट्रपति के साथ-साथ प्रधानमंत्री जी देश को संबोधन करते हैं और संविधान के नए वर्षगांठ की शुभकामनाएं देते हैं

गणतंत्र दिवस पर 10 लाइन हिंदी में (10 line in hindi on republic day) - उपसंहार

गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व हैयह दिन देश के हर कोने में मनाया जाता है इस दिन राष्ट्रीय ध्वज को लहराया जाता है साथ ही कई स्कूलों और कार्यालयों में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है इस दिन सभी लोगों में देश प्रेम और देश सुरक्षा की भावना जागृत होती हैं इस दिन भारतीय सेनाओं द्वारा अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया जाता है गणतंत्र दिवस के दिन भारतीय संविधान लागू हुआ था गणतंत्र दिवस को 26 जनवरी के दिन मनाया जाता है इस दिन देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं दिल्ली में सभी राज्यों की झांकियां प्रस्तुत की जाती है

दोस्तों यह लेख तक गणतंत्र दिवस पर आधारित जिसमें हमने गणतंत्र दिवस पर निबंध के बारे में जानकारी दी, यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट के माध्यम से बताएं और यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो प्लीज अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर साझा करें,   



Previous
Next Post »